सक्सेसफुल लोग रोज क्या करते है जानिए।

Updated: 19 hours ago







वन ऑफ़ दी ग्रेटेस्ट साइंटिस्ट ऑल टाइम (अल्बर्ट आइंस्टीन) ने कहा है चक्रवृद्धि ब्याज दुनिया का आठवां अजूबा है उनकी इसी बात से सहमत होकर डेरेन हार्डी पब्लिशर ऑफ़ सक्सेस फुल मैगज़ीन न्यूयोर्क टाइम बेस्ट सेलिंग बुक (द कंपाउंड इफ़ेक्ट में लिखा) है।


इस बुक में आपको ऐसे विचित्र उपाय जानने को मिलेंगे जो आपको एक परफेक्ट सक्सेसफुल इंसान बनने में मदद करेगा। सबसे पहले तो में आपसे पूछना चाहता हूँ। आपको क्या लगता है किसी भी इंसान को सक्सेसफुल और फेलियर बनने में क्या क्या मूल कारण होते है।


उनका बचपन, परवरिश या उनका पर्यावरण या और कुछ, ऑथर का हिसाब से वो रूट फैक्टर है उनके अपने खुद से लिए हुए छोटे से छोटे चोइसेस, इस पूरे ब्रम्माण्ड में सिर्फ और सिर्फ बस एक ही ऐसी चीज़ है। जिसको अगर हम चाहे तो पूरी तरह से कंट्रोल कर सकते है। वो है हमारे चोइसेस (इक्छा), और यही चोइसेस हमारी लाइफ के हरेक फिल्ड में आउट कम के लिए जिम्मेदार है।


आप चाहो तो ऑफिस से लौटकर जिम जा सकते हो या फिर सोफे पर लेट कर टीवी देख सकते हो। आप चाहो तो अपनी वाइफ को किसी बात पर झगड़ा होने के बाद उस झगडे को भुला कर अपनी वाइफ को गले लगा सकते हो। या फिर अपनी ईगो को बढ़ावा देकर वहां से निकल सकते हो।


ऐसी छोटी छोटी चोइसेस ही आउट कम को निर्धारित करती है आप चाहो तो हमेशा हैल्दी रहोगे या फिर बीमारियों का डिपो बनोगे। आप स्ट्रांग पीसफुल रिलेशन शिप पाओगे या फिर आपको अपनी बेटी को जबाब देना होगा की क्यों अपने उसकी मम्मी को डिवोर्स दिया। लेकिन हम अपने इन छोटे छोटे चोइसेस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते।


READ LATEST POST:---

1. हैल्थी रहने के पांच तरीके

2. अगर आपका बजन कम नहीं हो रहा है तो क्या करे

3. अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए 10 अच्छी आदतें को अपनाये।

4. मानसिक तनाव से होने वाले रोग

5. कैंसर के लकछड़

6. कोरोनावाइरस

7. बहरापन और सुनने में तकलीफ होना।

8. पानी पीने का सही तरीका सीखिए

9. ग्लोइंग स्किन मुँहासे मुक्त त्वचा पाने के घरेलू नुस्खे।




अगर आपको अभी दो ऑफर दिए जाये

नंबर 1. आपको एक रूपए का कोइन दिया जाये और ये अगले एक महीने के लिए हर रोज डब्बल होगा।


नंबर 2. अभी आपको दस करोड़ रुपये दिए जाए


तो आप अभी इसमें से कोनसा ऑफर लेना पसंद करोगे। बेशक आप दस करोड़ रूपए ही चूस करोगे राइट। ओके तो नंबर वन वाला ऑफर हम अपने पास रख लेते है।


ओके अब देकते है की नंबर 1 वाले ऑफर का आउट कम एक महीने बाद क्या आता है। अब पांच दिन बाद मेरे पास 16 रूपए हो जायेंगे। और आपके पास है दस करोड़। आप मजे से इन पैसो से पार्टी शॉपिंग कर रहे हो, अब दस दिन बाद मेरे पास है 512 रूपए। और आपके पास वही दस करोड़।


अब बीस दिन बाद मेरे पास है 5242 रूपए।और आपके पास वही दस करोड़।और 31 दिन बाद भी आपके पास वही दस करोड़।लेकिन अब मेरे पास है (1073741824) करोड़ रूपए होंगे जो आपके दस करोड़ से दस गुना ज्यादा है,




शायद अब जाके आप थोड़ा क्लियर ली समझ रहे हो की क्यों आइंस्टाइन ने कम्पाउंड इंट्रेस्ट को इस दुनिया का 8 वां अजूबा कहा था,


सफलता इसी पैटर्न को फॉलो करती है। लेखक के अनुसार 31 महीने या 31 साल के बाद, जो व्यक्ति यौगिक प्रभाव की सकारात्मक प्रकृति का उपयोग करता है, वह रातोरात सफलता प्राप्त करता है, (after 31 months, or 31 years, the person who uses the positive nature of the compound effect, appears to be an overnight success,)




जैसे की तीन दोस्तों का एक्साम्पल लेते है। अजय, विजय, सुजय, तीनो ही एक ही वातावरण में बड़े हुए। तीनो एक ही जगह पर रहते है। और तीनो की इनकम मोर ओवर एक ही जैसी है। और हा तीनो ही मैरिड है और तीनो की अपनी बीबियो की साथ झगड़ा चल रहा है।


अजय इस साल भी वही करता है जो वो हमेशा से करता रहा है। क्यों की उसे लगता है की वो इसी से बहुत खुश है। हा सिर्फ कभी कभी वो मोदी जी के बारे में कंप्लेंट करता है। की क्यों कुछ नहीं बदल रहा है।


दूसरी तरफ सुजय ने इस नई साल पर एक डेली सूची बनाई। और कुछ छोटे सकारात्मक पॉजिटिव चेंज लाना सुरु किया। जैसे की


1. वो रोज रात को अच्छी अच्छी किताबो के 10 पन्ने पड़ने लगा।

2. वो 30 मिनट की रोज मोटिवेशनल वीडियो ऑफिस जाते वक्त या ऑफिस से लौटते वक्त या बस में सफर करते वक्त देखने लगा।

3. अपनी डेली डायट से 125 कैलोरीस हटाया।

4. एक लीटर की बोतल से वो हर रोज 2 लीटर पानी पिने लगा।

5. वो हर रोज 2000 स्टेप्स मतलब एक माइल एक्स्ट्रा चलने लगा। इवनिंग वाक के नाम से,

6. हर रोज दो एक्स्ट्रा कॉल करने लगा अपने कस्टमर को। वो सर्विसेज से कितने सेटिस्फाइड है ये जानने के लिए।

7. उसने अपनी वाइफ को हफ्ते में एक दिन बहार डिन्नर करने के लिए लेजाना सुरु किया।

उसने बहुत ही आसान और छोटे छोटे चेंजेस किये,


अब विजय ने कुछ छोटे और सकारात्मक नेगेटिव बदलाव लाना शुरू किया। जैसे की


1. ऑफिस में लंच के साथ साथ थोड़ा जंक फ़ूड खाना,

2. हफ्ते में तीन या चार दिन जिम मिस कर देना। क्यों की ऑफिस में बहुत स्ट्रेस है और उसने लार्ज स्कीन टीवी भी ख़रीदा है जिसमे उसका फेवरेट प्रोग्राम भी आता है।

3. ऑफिस से हर रोज लौटके ठंडी कोल ड्रिंक पीना।

4. शाम को वॉक बंद कर देना। क्यों की लार्ज स्कीन पर फेवरेट शो देखना है।

5. अपने कस्टमर को एक या दो कॉल कम करना सुरु कर करना।

6. बीबी के साथ बहार जाना बंद कर करना। और अगर कभी कभार मन करे तो घर में ही अपनी वाइफ को सिर्फ कन्धा ऑफर करना शुरू दिया,






अगले पांच महीनों तक इन तीनो दोस्तों में कोई भी बदलाव देखने को नहीं मिला। दस महीने बाद भी सेम। अब सुजय थोड़ा फस्ट्रेट होने लगा। क्यों की उसे अब भी कोई पोसिटिव चेंज देखने को नहीं मिले। लेकिन फिर भी वो जिद पकड़ के किसी तरह सब कंटिन्यू करता रहा।


जहा पर विजय थोड़ा काम करके भी अपनी लाइफ को इंजोये करता रहा। और अजय भी खुस था। लेकिन 25 महीने बाद अचानक बहुत ही बड़े बदलाब दिखने सुरु हुए। और 27 महीने बाद वो और ज्यादा साफ दिखने लगे। 31 महीने के अंत में मतभेद अलग-अलग सुरु होने लगे।


अजय अब ज्यादा कंप्लेंट करने लगा मोदी जी के बारे में, और वो ज्यादा तर टाइम उद्देश्यहीन अनुभव करने लगा,


विजय ने हर रोज थोड़ा थोड़ा जंक फ़ूड खा के और जिम मिस करके अपना 15 किलो बजन बड़ा लिया। अब उसके दोस्त उसको मोटे विजय कहकर पुकारते है। और इसके साथ साथ उसने अपने अंदर बहुत सारी बीमारियों को भी भर लिया। हर रोज एक दो कॉल मिस करके उसने 1800 किलो मिस कर दिए। जिससे उसके कस्टमर भी अब असंतुष्ट होने लगे। ब्यापार के हालत भी ख़राब होने लगे और इसके कारण पैसो की भी कमी होने लगी।


और इसकी वजह से उसकी वाइफ से उकसा रिलेशन भी बर्बाद हो गया। और डिवोर्स देने वाली परिस्थिति आने लगी। और ऐसे छोटे नकारात्मक परिवर्तन से 31 महीने के अंदर विजय के लिए डरावने दिन आने लगे।



अब आते है सुजय के हालत पर। इस 31 महीनो में उसने 47 बुक्स और 465 घंटे तक की मोटिवेशनल वीडियो देख डाली। और उसका ज्ञान और बुद्धिमत्ता पहले से कई गुना ज्यादा बढ़ गया। और हर रोज 125 कैलोरी अपनी डायट से हटाकर और 2000 स्टेप्स चलके उसने अपना 15 किलो बजन तक घटा लिया। जिस वजह से वो अब भी पहले जैसा पतला और सुन्दरदीखता रहा। हर रोज सिर्फ 2 बोत्तल पानी पिके (3270 गेलन) तक पानी पी लिया। जिसकी मदद से उसने अपने अंदर बहुत सारी बीमारियों को आने से रोक लिया। और हर रोज दो एक्स्ट्रा कॉल करने की वजह से उसने 1800 कॉल को कर लिया।


जिससे उसके कस्टमर काफी खुश हुए और उसका ब्यापार भी तेजी से बढ़ने लगा। हर हफ्ते पर अपनी वाइफ को बहार लेजाकर उसने 124 बार बहार डिन्नर कर लिया। जिससे उसकी वाइफ भी बहुत ही खुश थी। और उनका रिलेशन शिप और भी ज्यादा स्ट्रांग बन गया। सुजय के लिए 31 महीने के अंदर छोटा सा महत्वपूर्ण सकारात्मक परिवर्तन अविश्वसनीय उत्कृष्ट परिणाम लेके आया,


लेकिन सक्सेस मिलना बहुत ही आसान है और हम सभी इस बात को जानते है। तो फिर क्यों क्यों हम इस प्रोसेस को फॉलो नहीं करते। और क्यों हम फेल हो जाते है। लेखक के हिसाब से चार ऐसे ट्रेप है जिस वजह से हम फेल हो जाते है। कंसिस्टेंट नहीं रह पते,


1. प्रारंभिक परिणाम अदरीश होते हैं

सोचिये आज अगर आप एक बर्गर खाते हो और अगले ही दिन आप 15 किलो बजन बढ़ाके उठते हो। तो क्या कभी भी आप एक बर्गर खाते। या आज एक सिगरेट पीते हो और अगले ही दिन आप सुबह एक कैंसर लेके उठते हो तो क्या आप कभी भी सिगरेट पीने की हिम्मत करते। लेकिन परेशानी ये है की शुरुआत में कोई भी बदलाव दिखाई नहीं देता।


कुछ महीने और कुछ साल बाद जैसे अचानक एक ही रात में बहुत ही भयानक से परिणाम सामने अ जाता है। जब तक की उसे रोकने के लिए बहुत देर हो जाती है। इससे बचने के लिए आपको ये याद रखना होगा। (‘’ every choice you make ignites a butterfly effect’’) आपको हरेक चोईस ध्यान से लेना होगा। लेकिन इसके बारे में पता हो।


2. दिशा निर्देश

लॉस एंजेलिस जाने वाली फ्लाइट अगर 1 डिग्री भी ऑफ रुट हो जाये तो प्लेन लॉस एंजेलिस से 150 मील दूर किसी और दूसरे आइलैंड पर जाकर लेंड करेगा। तो सोचो अगर आप भी 1 डिग्री ऑफ रुट हो जाओ 10 या 15 साल के लिए तो लाइफ में आप कहा जाके लेंड करोगे।


इससे बचने के लिए एक गाइड लाइन होना बहुत जरूली है। जैसे की एक डेली चेकलिस्ट जो एक फुट प्रिंट की तरह आपको ऑन ट्रैक रहने में भी मदद करेगा। और अगर किसी वजह से आप ऑफ ट्रैक भी हो जाओ तो ये चेकलिस्ट आपको ऑन ट्रैक आने में बहुत मदद करेगा।


3. तुरंत संतुष्ट होना

आपके पास दो ऑप्शन है डिन्नर के बाद या तो आप हॉट चॉकलेट खा सकते हो। या आप एक गिलास पानी पी सकते हो। अपने पानी को चुना है और आपके दोस्त ने हॉट चॉकलेट को। और वो बड़े मजे से चॉकलेट को आपकी आँखों के सामने खा रहा है। और इधर बस आप पानी पी रहे हो।


जिसमे इतना सा भी कोई टेस्ट नहीं है। कैसा लगेगा आपको। यही ट्रेप है। अगर आप शार्ट टर्म में देखोगे, तो अगर आप एक गुड चॉइस लेते हो तो आपको कुछ भी नहीं मिलता। लेकिन अगर आप बैड चॉइस लेते हो तो आपको बहुत मजा और बहुत खुसी मिलती है। जो एक महान विरोधाभास है


लेखक ने कहा है ( short term pleasures ---- long term pains)

(short term pains ---- long term pleasures)

अल्पकालिक सुख लंबे समय तक दर्द पैदा करता है

और अल्पकालिक दर्द दीर्घकालिक आनंद पैदा करता है।


जिंदगी में आपको एक बार तो सफर करना ही होगा। आप इसको तो छोड़ नहीं सकते। ये सफरिंग दो तरह के है। THE PAIN OF DISCIPLINE, THE PAIN OF REGRET

लेकिन डिसीप्लेन का बजन सिर्फ कुछ ही हद तक है जहा पर रिग्रेट का बजन कई हद तक ज्यादा है। अब चॉइस आपकी है।




4. क्या करना आसान है और क्या करना आसान नहीं है। (WHAT IS EASY TO DO, ALSO NOT EASY TO DO)

ये चेकलिस्ट मेंटेन करना और हर रोज दो बोत्तल पानी पीना, 2000 स्टेप्स एक्स्ट्रा चलना ये सारे काम करना बहुत ही आसान है। जी हा आसान तो है लेकिन करने में मुश्किल भी है।


लेखक कहते है सिर्फ एक चीज़ ऐसी है जो सक्सेसफुल और अनसक्सेस्फुल दोनों में सामान है वो है सही विकल्प चूस करना।


जी हा हॉट चॉकलेट की तरह कोई भी पानी पीना पसंद नहीं करता। लेकिन सक्सेसफुल लोग फिर भी विल पावर या ये कहना ठीक होगा अपने व्हाई पावर को यूज करके वो काम कर लेते है।


मोहमद अली ने कहा था मैं प्रशिक्षण के दौरान हर किसी से नफरत करता था, लेकिन मैं एक विश्व चैंपियन बन गया,


तो इस जाल से बचने के लिए आपको अपने व्हाई को ढूंढ निकलना होगा। ये व्हाई जितना पावर फुल होगा आप भी उतना पावर फुल होंगे। तो आज ही पहले दिन से स्टार्ट करके डेली चेकलिस्ट बना लीजिये। जो आपको साल दर साल सही राह पर चलने में आपकी मदद करती रहेगी।


एक बात तो पक्की है कंपाउंड इफेक्ट को आप कभी छोड़ नहीं सकते। (''EITHER YOU EARN OR YOU PAY'')


अगर आपको और इसके बारे में और जानकारी चाहिए तो आप कमेंट करके हमें बता सकते हो।


READ LATEST POST:---

1. हैल्थी रहने के पांच तरीके

2. अगर आपका बजन कम नहीं हो रहा है तो क्या करे

3. अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए 10 अच्छी आदतें को अपनाये।

4. मानसिक तनाव से होने वाले रोग

5. कैंसर के लकछड़

6. कोरोनावाइरस

7. बहरापन और सुनने में तकलीफ होना।

8. पानी पीने का सही तरीका सीखिए

9. ग्लोइंग स्किन मुँहासे मुक्त त्वचा पाने के घरेलू नुस्खे।

© 2020 by Hhindi.com.
Proudly created by gaurav hhindi.com